Cpx24.com CPM Program

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ओमान दौरे से भारत को रक्षा के क्षेत्र में एक और उपलब्धि हासिल हुई है। दोनों देशों को बीच हुए एक समझौते के बाद ओमान के दुकम पोर्ट का इस्तेमाल भारत अपनी सैन्य गतिविधियों एवं लॉजिस्टिक सपोर्ट के लिए कर सकेगा। सामुद्रिक रणनीति के लिहाज से दुकम पोर्ट तक भारत की पहुंच होना काफी महत्वपूर्ण है। इस पोर्ट से भारत इलाके में चीने के प्रभाव एवं गतिविधियों पर नजर रखने के साथ उसे चुनौती देने में सक्षम होगा।

प्रधानमंत्री मोदी अपने तीन देशों की यात्रा के अंतिम चरण में ओमान गए थे। इस यात्रा के दौरान दुकम पोर्ट पर भारत को पहुंच देने से जुड़े सहमति पत्र पर दोनों देशों के बीच हस्ताक्षर हुए। सूत्रों का कहना है कि इस समझौते के बाद भारत अपने युद्धपोतों के रखरखाव के लिए दुकम पोर्ट और ड्राई डॉक का इस्तेमाल कर सकेगा।

दुकम पोर्ट ओमान के दक्षिणपूर्वी भाग में स्थित है और यहां से एक साथ अरब सागर और हिंद महासागर दोनों तरफ नजर रखी जा सकती है। इस पोर्ट का सामरिक एवं रणनीतिक महत्व काफी ज्यादा है क्योंकि यह ईरान के चाबाहार बंदरगाह के नजदीक स्थित है। भारत सेशेल्स में एजम्पशन आइलैंड और मॉरीशस में एगालेगा बंदरगाह को पहले से ही विकसित कर रहा है, ऐसे में दुकम पोर्ट तक सैन्य पहुंच होने से भारत की सामुद्रिक सुरक्षा और मजबूत होगी। इसे पीएम मोदी की दो दिवसीय ओमान यात्रा की सबसे बड़ी उपलब्ध‍ि के रूप में देखा जा सकता है। दुकम में हाल के महीनों में भारत की गतिविधियां बढ़ गई हैं।

सुल्तान  के साथ प्रधानमंत्री मोदी की मुलाकात :
ओमान के सुल्तान कबून बिन साद अल साद के साथ रविवार को हुए मुलाकात में मोदी ने ओमान के विकास में भारतीय कामगारों की भूमिका की सराहना की। ओमान में लगभग 8 लाख कामगार रहते हैं और मोदी ने सोमवार को समुदायिक बैठक में खाड़ी दशों को विकास में इन लोगों के योगदान की सराहना की। मोदी और सुल्तान के बीच बैठक में भारत और ओमान के बीच 8 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए। इस दौरान स्वास्थ्य, आउटर स्पेश, कूटनीति, रक्षा अध्ययन और विश्लेषण के तीन समझौता ज्ञापन पत्र पर भी हस्ताक्षर किए गए। दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग एक मुख्य रणनीतिक साझेदानी बनकर उभरा है।  मोदी पश्चिम एशिया और खाड़ी देशों की यात्रा के अंतिम पड़ाव के तहत यहां रविवार शाम को आए थे। इससे पहले उन्होंने फिलिस्तीन और संयुक्त अरब अमीरात की भी यात्रा की थी।

2 COMMENTS